Thursday, January 5, 2012

चन्दन है इस देश की माटी इसका तिलक लगाओ रे

चन्दन है इस देश की माटी इसका तिलक लगाओ रे

पुण्य भूमि है धरती अपनी
भारत माता के गीत सब गाओ रे
चन्दन है इस देश की माटी
इसका तिलक लगाओ रे ...................
हर कन्या इस देश की सीता,
हर बालक कृष्ण सलोना
धरती अपनी अन्न जल देती
महकता हर आँगन हर कोना
सब मिल करे है भारत माँ का वंदन
उच्च  स्वर में सब गुनगुनाओ रे
चन्दन है इस देश की माटी
इसका तिलक लगाओ रे ...................
धरती सुनहरी अम्बर नीला
यहाँ बहती गंगा यमुना सरस सलिला
खुशिया है बाँटता हर शहर हर गाँव रे
चन्दन है इस देश की माटी
इसका तिलक लगाओ रे ...................
बहुत कुछ पाया इस देश से हमने
जीवन की हर खुशिया और हर रंग
दिया देश ने हमको क्या जवानी क्या बचपन की छाओ रे
चन्दन है इस देश की माटी
इसका तिलक लगाओ रे ...................
--------------------------
रवि कुमार "रवि"

3 comments:

  1. ravi bhaiya, je kavita tau waakai bahut achhi lagi

    lage raho bhai, aapk tau naam hogaya - good work

    ReplyDelete
  2. lagaliya tilak bhai
    aahe bolo aur kyaa karnaa hai -
    ye bataao inn extremist mullo ko kaise desk se baahar nikaalana hai ?

    how we can liberate, Raam janam bhoomi / Kashi vishwaNath / Mathura krishna janam bhoomi ?

    ReplyDelete
  3. manie khud lagaaya tilak , family aur dosto ko bhi lagwayaa - ab kuchh practical baat bhi bolo kaviRaj ji

    ReplyDelete

Blog Archive