Sunday, March 11, 2012

है मेरे पास भी बहुत जो चुराया जाये


है मेरे पास भी बहुत
जो चुराया जाये 
मुझ से हट कर 
मेरे देस के लोगो 
को दिखाया जाये 
जो चुराना है
तो चुरा लो
में आज हर राज़ लिख दूंगा
बिगड़ता मिजाज़ मुल्क का
बदतर होते हालात लिख दूंगा
..........
रवि कुमार "रवि

No comments:

Post a Comment